होमआदत

अच्छे इंसान

अच्छे इंसानो मेंएक कमी होती है,वे सबकोअच्छा समझ लेते है…प्रेम के बोल - हिंदी कहानीएक गाँव में एक मजदुर रहा करता था जिसका नाम हरिराम था | उसके परिवार में कोई नहीं था | दिन भर अकेला मेहनत में लगा रहता था | दिल का बहुत ही दयालु और कर्मो का भी बहुत अच्छा...

रास्ते पर कंकड़

रास्ते पर कंकड़ ही कंकड़ हो तो भी एक अच्छा जूता पहनकर, उस पर चला जा सकता है...लेकिन अगर एक अच्छे जूते के अंदर कंकड़ हो तो, एक अच्छी सड़क पर भी कुछ कदम तक चलना मुश्किल हो जाता है।अथार्त - हम बहार की चुनौतियों से नहीं, बल्कि अंदर की कमजोरियों से हारते है।संगीतमय...

लोकप्रिय लेख

दिमाग में दो घोड़े

मनुष्य के दिमाग में दो घोड़े दौडते है, एक Negative और दूसरा Positive जिसको ज्यादा खुराक दी जाये - वही जीतता है …नारियल का जन्म - हिंदी कहानीप्राचीन काल में सत्यव्रत नाम के एक राजा राज करते थे। वह प्रतिदिन पूजा-पाठ किया करते थे।...

बच्चों के – मजाकिया चुटकुले

टीचर - पप्पू तुम स्कूल किसलिए आते हो?पप्पू - विद्या के लिए।टीचर - तो क्लास में सो क्यों रहे हो?पप्पू - सर आज विद्या नहीं आई इसलिए...।विज्ञान के टीचर ने छात्र से पूछा…..एलोवीरा क्या होता है ?संता सिंह : जब एक पंजाबी व्हिस्की का...
अच्छे इंसानो मेंएक कमी होती है,वे सबकोअच्छा समझ लेते है…प्रेम के बोल - हिंदी कहानीएक गाँव में एक मजदुर रहा करता था जिसका नाम हरिराम था | उसके परिवार में कोई नहीं था | दिन भर अकेला मेहनत में लगा रहता था | दिल का बहुत ही दयालु और कर्मो का भी बहुत अच्छा था | मजदुर था इसलिए उसे उसका भोजन उसे मजदूरी के बाद ही मिलता था | आगे पीछे कोई ना था इसलिये वो इस आजीविका से संतुष्ट था |एक बार उसे एक छोटा सा बछड़ा मिल गया | उसने ख़ुशी से उसे पाल लिया उसने सोचा आज तक वो अकेला था अब वो इस बछड़े को अपने बेटे के जैसे पालेगा | हरिराम का दिन उसके बछड़े से ही शुरू होता और उसी पर ख़त्म होता वो रात दिन उसकी सेवा करता और उसी से अपने मन की बात करता | कुछ समय बाद बछड़ा बैल बन गया | उसकी जो सेवा हरिराम ने की थी उससे वो बहुत ही सुंदर और बलशाली बन गया था |गाँव के सभी लोग हरिराम के बैल की ही बाते किया करते थे | किसानों के गाँव में बैल की भरमार थी पर हरिराम का बैल उन सबसे अलग था | दूर-दूर से लोग उसे देखने आते थे |हर कोई हरिराम के बैल के बारे में बाते कर रहा था |हरिराम भी अपने बैल से एक बेटे की तरह ही प्यार करता था भले खुद भूखा सो जाये लेकिन उसे हमेशा भर पेट खिलाता था एक दिन हरिराम के स्वप्न में शिव का नंदी...
error: Content is protected !!